-->
हिरो बनो..व्हिलन नही..औरंगाबाद पोलिस को S.P. मोक्षदा पाटील कि हिदायत, लोगो ने कहा बहोत खुब..

हिरो बनो..व्हिलन नही..औरंगाबाद पोलिस को S.P. मोक्षदा पाटील कि हिदायत, लोगो ने कहा बहोत खुब..

मोक्षदा पाटिल पुलिस अधीक्षक ग्रामीण औरंगाबाद 
औरंगाबाद : कोरोना वायरस एक एैसी जंग है जिसको एक साथ मिलकर और एक दुसरे के सहकार्य से हराना ही मुमकीन है. सोशल डिस्टंसींग के जरीए एहतियात बरतना जरुरी है. सरकार के द्वारा दिए गए निर्देशो का पालन करे. औरंगाबाद ग्रामीण पोलिस  अधिक्षक द्वारा पोलिस कर्मचारीयों और अधिकारीयों को एक हिदायत दी गई है जिसमे पोलिस अधिक्षक मोक्षदा पाटील ने पोलिस अधिकारी कर्मचारीयों से कहा कि वह जनता कि नजर मे हिरो बने..व्हिलन नही.
मोक्षदा पाटिल के इस हिदायत के बाद अब जनता को भी चाहिए के वह पोलिस प्रशासन का सहकार्य करे. क्यु की यह पोलिस प्रशासन अपनी जान कि परवाह किए बिना और अपने परिवार से दुर रहकर आपकी सुरक्षा के लिए तैनात है.

पोलिस अधिक्षक मोक्षदा पाटील का एक लेटर अब सोशल मिडीया पर वायरस हो रहा है जिसमे उन्होने औरंगाबाद पोलिस अधिकारी कर्मचारीयों को कुछ हिदायत दी है.  क्या कहा है उन्होने आएये जानते है.
सबसे पहले जान लेते है कि किन लोगो को पोलिस द्वारा न अडाया जाए उसकी जानकारी लेटर मे दी हुई है

  • 1.वैद्यकीय सेवा सरकारी,  खाजगी, डॉक्टर्स, नर्स, सिस्टर इन लोगो को न रोका जाए
  • 2.सफाई कर्मचारी 
  • 3.सुरक्षा कर्मचारी
  • 4.पाटबंधारे विभाग, पाणी पुरवठा विभाग  कर्मचारी अधिकारी
  • 5.एमएसईबी या बिजली से संबधीत अधिकारी कर्मचारी
  • 6.शुगर पॅâक्ट्री मे काम करनेवाले लोग
  • 7. खेती करने वाले किसान
  • 8.पत्रकार और फोटो ग्राफर
  • 9.दवाई बनाने वाले वंâपनी मे काम करने वाले लोग
  • 10. बंद किए कपंनी और दुसरे वंâपनी के चुने गए सुरक्षा रक्षक जिन के पास आयडी कार्ड हो उन्हे ना रोका जाए.
  • 11.इंटरनेट सुविधा से जुडे कर्मचारी 
  • 12.केबल ऑपरेटर्स
  • 13.टेलिफोन संबंधीत कर्मचारी
  • 14.जरुरी चिजे होम डिलीव्हरी करने वाले डिलीव्हरी बॉय
  • 15.तात्काळ वैद्यकीय सेवा के लिए जाने वाले लोग, गर्भवती महिला, डायलेसीस पेशंट, सिरीयस पेशंट, ऑपरेशन के लिए जाने वाले पेशंट, 
  • 16.सभी अ‍ॅम्ब्युलंस सेवा


किसे रोके और घर भेजे :


  • 1.गैर जरुरी तौर पर रास्तो पर घुमने वाले
  • 2. भिड करने वाले
  • 3.सोशल डिस्टंसींग का उल्लघण करने वाले
  • 4. सुबह शाम वॉक पर जाने वाले
  • 5. कुत्ते को घुमाने लेकर जाने वाले
  • 6 जेष्ठ नागरीक
  • 7.छोटे बच्चे

उपर दिए गए सभी लोगो को घर भिजवाने का आदेश दिया गया है पब्लीक अनांऊन्सींग पी.ए.सिस्टम के जरीए. लेटर के अनुसार पोलिस को यह भी हिदायत है कि बिना वजह वह बल का प्रयोग ना करे. लेकीन जो नागरीक उल्लंघण करे नियमो का उनपर कार्यवाही भी करे यह हिदायत पोलिस को दी गई है.



लोकसवाल / दबंग मिडिया की  जनता से अपील

जब पोलिस प्रशासन जनता को इनता सहकार्य करने मे लगी है तो नागरीकों का कर्तव्य है कि एैसे पोलिस अधिकारी कर्मचारींयो का दिल से समर्थन करे और इनको सहकार्य करे..और पोलिस अधिक्षक का भी धन्यवाद जिन्होने यह सारी हिदायत जारी कि..वाकई उनका यह काम तारीफ के लायक है.   

1 Response to "हिरो बनो..व्हिलन नही..औरंगाबाद पोलिस को S.P. मोक्षदा पाटील कि हिदायत, लोगो ने कहा बहोत खुब.. "

Recent

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article