-->
 राजसहाब मुझे माफ किजीए, राजकारण के लिए पैसे नही, २७ वर्ष के मनसे शहरध्यक्ष ने लगाई फासी- लिखा सुसाइट नोट

राजसहाब मुझे माफ किजीए, राजकारण के लिए पैसे नही, २७ वर्ष के मनसे शहरध्यक्ष ने लगाई फासी- लिखा सुसाइट नोट

नांदेड, आखरीबार जय महाराष्ट्र, राजकारण के लिए पैसे नही यह लिखकर नांदेड मे मनसे शहर अध्यक्ष सुनिल ईरावर इस युवक ने २७ साल कि उम्र मे फासी लगाई है. एक निजी खबर बेवसाईट के मुताबिक सुनिल ईरावर यह नांदेड शहर के गोवुंâदा परीसर का रहीवासी था. आज सुबह तकरीबन साडे छह बजे सुनिल ने साडी के कपडे से फासी लगाकर अपने जिवन को खत्म कर दिया. 

घर के परीजनों ने तुरंत पुलिस को इस बात कि जानकारी दी पुलिस घटनास्थल पर पहोची. शव को अपने ताबे मे लिया घर कि छानबिन कि जिसके बाद पता चला कि सुनिल ने आत्महत्या के पहले एक सुसाईट नोट लिखा है. इस सुसाईट नोट मे उसने मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे से माफी मांगी है.

जिसमे उसने लिखा है (हिंदी अनुवाद)

अखरीबार जय महाराष्ट्र

इसके आगे मेरे पास राजकरण करने के लिए पैसे नही है. परिस्थती कमजोर होने कि वजह से मै अपने मर्जीसे अपना जिवन खत्म कर रहा हु. इस लिए मेरी वजह से किसी को कोई तकलीफ नही होनी  चाहिए. 

राज सहाब मुझे माफ किजीए. हमारे यहा पैसे और जात इन दो चिजों पर राजनिती कि जाती है और यह दोनो चिजे मेरे पास नही है.

जय महाराष्ट्र, जय राजसाहेब, जय मनसे

मम्मी, पप्पा, बडी भाभी, छोटी भाभी, शिवदादा, शंकरदादा, पप्पुदादा, मुझे पता है मै माफ कि जाने के लायक नही हु फिर भी आप सभी मुझे माफ कर देना. माँ मुझे माफ कर देना तुम्हारा सुनिल..

सुनिल कि इस नोट को पढकर शहर के मनसे कार्यकर्ताओ के आखे आसु से भर गई. अब इस मामले मे पुलिस आगे कि जाँच कर रही है.


0 Response to " राजसहाब मुझे माफ किजीए, राजकारण के लिए पैसे नही, २७ वर्ष के मनसे शहरध्यक्ष ने लगाई फासी- लिखा सुसाइट नोट "

टिप्पणी पोस्ट करा

Recent

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article