-->
दो नन्हे उजैर जिन्होंने रखा अपनी ज़िन्दगी का पहला रोज़ा-जिन्हें घरवालो ने दुआओ से नवाजा

दो नन्हे उजैर जिन्होंने रखा अपनी ज़िन्दगी का पहला रोज़ा-जिन्हें घरवालो ने दुआओ से नवाजा

औरंगाबाद : तकरीबन रमजान खत्म के करीब है लेकिन रोजा रखने की चाहत बच्चों में कम नहीं हुई है. पहले रमजान से लेकर आखिर रमजान तक कई बच्चे अपनी जिंदगी का पहला रोजा रखते हैं. छोटे-छोटे मासूम बच्चे बड़े शौक से रोजा रखते हैं.

औरंगाबाद के दो बच्चे जिन दोनों बच्चो का नाम उज़ैर है उन्होंने अपनी जिंदगी का पहला रोजा रखा. 

पहला बच्चा जिसका नाम शेख उज़ैर शेख अजहर, उम्र 7 साल इलियास कॉलोनी, हरसुल औरंगाबाद में रहने वाले इस छोटे उज़ैर ने अपनी जिंदगी का पहला रोजा रखा.


दूसरा नन्हा रोजेदार शेख उज़ैर शेख सरफराज, उम्र 6 साल, कटकट गेट औरंगाबाद इसने अपनी जिंदगी का पहला रोजा रखा है. दोनों ही मासूम रोजेदारों को उनके घर वाले और लोगों ने दुआओं से नवाजा है. 

0 Response to "दो नन्हे उजैर जिन्होंने रखा अपनी ज़िन्दगी का पहला रोज़ा-जिन्हें घरवालो ने दुआओ से नवाजा"

टिप्पणी पोस्ट करा

Recent

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article