-->
पटरी से लाइव कर रहे NDTV रिपोर्टर को रोकने पहुंची पुलिस, रवीश कुमार बोले- ये तो पत्रकारिता सिखा रहे हैं..

पटरी से लाइव कर रहे NDTV रिपोर्टर को रोकने पहुंची पुलिस, रवीश कुमार बोले- ये तो पत्रकारिता सिखा रहे हैं..


image Source : Jansatta.com 
महाराष्ट्र के औरंगाबाद के पास एक दुखद खबर घटी, शुक्रवार को १६ प्रवासी मजदूरों को एक मालगाड़ी ने रौंद दिया। इस घटना के बाद हर कोई शोक व्यक्त कर रहा है। न्युज वेबसाईट जनसत्ता के आर्टीकल के मुताबिक टीवी चैनल एनडीटीवी ने पटरी पर चल रहे मजदूरों को लेकर रिपोर्टिंग की। वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने अपने शो ‘देस की बात’ रवीश कुमार के साथ में इस रिपोर्ट को दिखाया। इस दौरान कुछ पुलिसकर्मी वहां पहुंच गए और पटरी पर चल रहे लोगों को वहां से भागने लगे। एक पुलिसकर्मी ने वहां से टि.व्ही. के लाइव रिपोर्टिंग कर रहे पत्रकार को भी यहां से जाने को कहा, साथ ही टीवी चैनलों पर जनता से सच्चाई छुपने का आरोप लगाया। इसपर रवीश ने उनसे कहा कि ये तो अब पत्रकारिता सिखाने लगे.

रिपोर्टर वहां खड़े मजदूरों से बात कर रहे थे। तभी कुछ पुलिसकर्मी वहां पहुंच गए और लोगों को पटरी से भागने लगे। एक पुलिसकर्मी ने पत्रकार से कहा  आप भी कॉर्पोरेट करिए और यहां से जाइए। पत्रकार ने कहा सर मैं आप की सारी बात समझ रहा हूं । लेकिन यहां पर जो मजदूर चल रहे हैं उनकी हकीकत भी तो दिखनी पड़ेगी। इसपर पुलिसकर्मी ने कहा कि आप गलत जगह पर इंटरव्यू ले रहे हैं। जवाब में पत्रकार ने कहा कि लोग गलत जगह पर चल रहे हैं।

पुलिसकर्मी ने कहा  हमे ऊपर से बोला गया है कि पटरी से लोगो को हटाओ। अब जो अधिकारी बोलेगा हम वही करेंगे ना। हमें आदेश हैं कि पटरी पर चल रहे लोगों को उनके घर वापस भेजने को कहा गया है। पत्रकार ने पूछा ‘क्या रेलवे इन लोगों को कुछ खाने पीने को दे रहा है।’ इसपर पुलिसकर्मी ने कहा ‘मुझे इस्स बारे में कोई जानकारी नहीं है। आप अपना कैमरा बंद कीजिये और प्लीज यहां से जाइए। पत्रकार ने कहा कि ये टीवी पर लाइव जा रहा है। पुलिसकर्मी ने कहा कि आप लोग लोकतंत्र का चौथा खंभा हो और आप लोग पब्लिक को हिला रहे हो। आप सच्चाई नहीं दिखा रहे। आप अपना फायदा देख रहे हो। ये गलत बात है। आपको इनको समझाना चाहिए कि यहां मत चलो। इसपर रवीश ने स्टुडियो से कहा ‘ये तो पत्रकारिता सिखा रहे हैं। अभी एक आदमी कह रहा था कि यहां से ४००० लोग गए हैं और ये अब कह रहे हैं यह गलत जगह है... कमाल है।

0 Response to "पटरी से लाइव कर रहे NDTV रिपोर्टर को रोकने पहुंची पुलिस, रवीश कुमार बोले- ये तो पत्रकारिता सिखा रहे हैं.."

टिप्पणी पोस्ट करा

Recent

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article