-->
कोरोना वायरस कि अफवाह से पोलेट्रीफॉर्म को जबरदस्त अर्थीक नुकसान, भरपाई कि औरंगाबाद जिल्हाधिकारी से मांग

कोरोना वायरस कि अफवाह से पोलेट्रीफॉर्म को जबरदस्त अर्थीक नुकसान, भरपाई कि औरंगाबाद जिल्हाधिकारी से मांग

आज औरंगबाद जिल्हाधिकारी को निवेदन दे कर नुक्सान भरपाई की मांग की है 


औरंगाबाद (प्रतिनिधि आदिल खान ) : कोरोना वायरस जहाँ लोगो के लिए डर का सबब बना हुआ है. वही पर कुछ अफवाह जोरो पर पनप रही है. इसमे से कुछ अफवाह लोगो के व्यवसाय पर भी बडा प्रभाव डाल रही है . ज्यादातर प्रभाव पोलेट्रीफॉर्म पर पड रहा है. चिकन से कोरोना वायरस पैâलने कि खबरे लगातार सोशल मिडीया पर वायरल हो रही है. जिसकी वजह से चिकन बेचने वाले और चिकन का कारोबार करने वालो को जबरदस्त नुकसान हो रहा है.

आज औरंगाबाद के जिल्हाधिकारी से कुकुटपालन करने वाले लोगो ने निवेदन दिया जिसमे उन्होने अपने आर्थीक नुकसान कि भारपाई की मांग की है. निवेदन मे लिखे गए अनुसार ५००  से ३०० किसान अंदाजे ८ से १० लाख मुर्गीयो का संगोपन करते है जिसका खर्च १६ करोड रुपये प्रतिमहा है.

औरंगाबाद कुकुटपालन कारोबार का खर्च २५ करोड रुपये के उपर है. निवेदन देने वाले ने बताया कि उन्होने इस अफवाह कि वजह से माल १० से १२ रुपये किलो के हिसाब से बेचना पडा जिससे उन्हे ६० से ६५ रुपये प्रति किलो का नुकसान बरदाश्त करना पडा. इन सबको मद्दे नजर रखते हुए इन लोगो ने १२ मार्च २०२० को औरंगाबाद के जिल्हाधिकारी को निवेदन दिया जिसमे उन्होने नुकसान भरपाई कि मांग कि है. यह निवेदन औरंगाबाद जिल्हा के अलग अलग चिकन  व्यापारीयों ने दिया है जिसके साथ महाराष्ट्र एकलव्य आदिवासी त.भिल्ल विकास परिषद भी शामील थे.     

0 Response to "कोरोना वायरस कि अफवाह से पोलेट्रीफॉर्म को जबरदस्त अर्थीक नुकसान, भरपाई कि औरंगाबाद जिल्हाधिकारी से मांग "

टिप्पणी पोस्ट करा

Recent

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article